Baap Shayari

बाप शायरी Collection | पिता शायरी | पापा Shayari

माँ के ऊपर तो हर कोई लिख देता है, उसके गुणगान गाता है, लेकिन बाप के ऊपर कोई कुछ नहीं कहता. बाप वो शख्स है जो खुद तकलीफो में रहेगा लेकिन अपने परिवार पे कोई आंच नहीं आने देगा. बाप नहीं तो बेटे का भविष्य में अँधेरा छा जाता है, बाप पुरे घर का बोझ उठाता है, परिवार का व्यवस्थापन, पालन -पोषण बाप के बिना मुमकिन नहीं. ऐसे ही एक पिता पर कुछ शायरी हमने इस पोस्ट में संग्रहित की है, जो आपको जरूर पसंद आएगी…


दुनिया में केवल पिता ही,
एक ऐसा इंसान है की,
जो चाहता है की,
मेरे बच्चे मुझसे भी ज्यादा
कामयाब हो..
जो अपने पिता से प्यार करते है,
वही Like करे…


बाप कि मौजुदगी सुरज के जैसी होती है,
सुरज गरम तो जरूर होता है,
मगर सुरज ना हो तो,
अंधेरा छा जाता है…


कोई कुछ भी कहे पर यह बात तो पक्की है,
पिता की डाँट में ही बेटे की तरक्की होती है…


कभी हँसी तो कभी अनुशासन है पिता,
कभी मौन तो कभी भाषण है पिता,
माँ अगर घर में रसोई है,
तो चलता है जिससे घर वो राशन है पिता…


प्यारे पापा सच्चे पापा,
बच्चो के संग अच्छे पापा,
करते है पूरी हर इच्छा,
मेरे सबसे अच्छे पापा…
Love You Papa!


मेरी पहचान है मेरे पापा,
मेरी हर ख़ुशी है मेरे पापा,
जो है लाखों मे एक,
वो मेरी जान है मेरे पापा…
I Love You Papa !


पापा,
अगर मैं रास्ता भटक जाऊँ,
मुझे फिर राह दिखाना..
आपकी जरुरत मुझे हर कदम पर होगी,
नहीं है कोई दूजा आपसे बेहतर चाहने वाला…
I LOVE YOU PAPA!


होठों पर नाम आते ही यादें ताज़ा हो जाती है पापा,
यादें ताज़ा होते ही आँखे छलक जाती है पापा,
गुज़रे दिनों की तस्वीर साफ़ नज़र आती है पापा,
सब होते हुए भी आपकी कमी नज़र आती है पापा…


जिसने मेरा जीवन सवारा वह राहत है मेरे पापा,
सपनो मे जिसका चेहरा दिखा वह चाहत है मेरे पापा,
बसी है जो मेरे मन मंदिर मे वह सूरत है मेरे पापा,
पूजा है जिसको मैने शाम सवेरे वह मूरत है मेरे पापा…


मेरी हँसी, मेरी ख़ुशी है पापा मेरे,
मेरे बचपन का खिलौना है पापा मेरे,
जिनकी ज़िन्दगी, जान हूँ मै,
है वो प्यारे पापा मेरे…


माँ के बिना पूरा घर बिखर जाता है,
पापा के बिना तो पूरी दुनिया ही बिखर जाती है…


चाहे राह कैसी भी हो,
लोगों की भीड़ में खुद को छोटा न समझना,
जब हो पापा का प्यार आपके साथ,
तब खुद को कभी तनहा न समझना…


पापा के होने से
बचपन खुशियों के साथ गुजरता है,
लगती है हर राह आसान
जब मेरा हाथ पापा के हाथ में होता है…


सारी ख़ुशी मिल जाती है जब मिल जाता है पापा का प्यार,
मेरे होठों को हँसी मिल जाती है जब मिल जाता है पापा का प्यार,
वैसे तो हर पल निराला ही होता है,
पर बचपन खुबसूरत हो जाता है जब मिल जाता है पापा का प्यार…


हाँ मुझे डर नही जब तलक हाथो मे पापा का हाथ है,
रब से प्यारा मुझे सब से प्यारा मुझे पापा का साथ है…

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.