Barish Love Shayari

बारिश के पानी को अपने हाथों में समेट लो,
जितना आप समेट पाये उतना आप हमें चाहते है,
और जितना न समेट पाए उतना हम आप को चाहते है…

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.