Bhik Mangne Ki Bhi Ek Limit Hoti Hai

तु चाँद मांग में चाँद दे दूँ,
तु रात मांग में रात दे दूँ,
तु दिल मांग में दिल दे दूँ,
तु प्यार मांग,
क्या यार…
भिक मांगने की भी एक Limit होती है!!
☺ ☺ ☺

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.