Door Rah Kar Kareeb Rehne Ki Aadat Hai

दुर रहकर करीब रहने की आदत है,
याद बनकर आँखों से बहने की आदत है,
करीब ना होते हुए भी करीब पाओगे,
मुझे एहसास बनकर रहने की आदत है…

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.