Dosti Aisi Ho Jo Milne Ko Majbur Kare

जिंदगी ऎसी हो जो जिने को मजबुर करे,
राहे ऎसी हो जो चलने को मजबुर करे,
खुशबू कभी दोस्ती की कम ना हो,
दोस्ती ऎसी हो जो मिलने को मजबुर करे…

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.