Dosti Ki Hai Nibhani To Padegi

दोस्ती की है निभानी तो पडेगी ही,
आपकी तकलीफ हमे बतानी तो पडेगी ही,
आपकी तकलीफ न जान सके तो दोस्ती किस काम की,
आपके लिए मर न सके तो जिंदगी किस काम की….

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.