Maa Ke Liye Shayari

जिसके होने से मैं खुद को मुकम्मल मानता हूँ..
मेरे रब के बाद,
मैं बस मेरी माँ को जानता हूँ…

Maa Ka Batwara

Maa Ka Batwara

सन्नाटा छा गया बंटवारे के किस्से में,
जब माँ ने पूछा,
मैं हूँ किसके हिस्से में.?