Jab Mujhse Mohabbat Hi Nahi To Rokte Kyon Ho?

जब मुझसे मोहब्बत ही नहीं तो रोकते क्यों हो,
तन्हाई में मेरे बारे में सोचते क्यों हो,
जब मंजिले ही जुदा है तो जाने दो मुझे,
लौट के कब आओगे ये पूछते क्यों हो?

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.