Kabhi Hum Pe Wo Jaan Diya Karti Thi

कभी हम पे वो जान दिया करती थी,
जो हम कहते थे मान लिया करती थी,
अब पास से अनजान बनकर गुजर जाती है,
जो दूर से पहचान लिया करती थी…

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.