Muje Kisi Se Muhabbat Nahi Siwa Tere

मुझे किसी से  मोहब्बत नहीं सिवा तेरे,
मुझे किसी की जरुरत नहीं सिवा तेरे !
मेरी नजर को थी तलाश जिसकी बरसो से,
किसी के पास वो सूरत नहीं सिवा तेरे !

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.