Suprabhat Yaad Shayari

याद करना और याद आना,
दोनों अलग-अलग बातें है..
याद हम उन्हें करते है,
जो हमारे अपने है..
और याद हम उन्हें आते है,
जो हमें अपना समजते है…
सुप्रभात!

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.