Maa Ke Liye Shayari

जिसके होने से मैं खुद को मुकम्मल मानता हूँ.. मेरे रब के बाद, मैं बस मेरी माँ को जानता हूँ…