Daulat Ki Bhuk Aisi Lagi Ki

Daulat Ki Bhuk Aisi Lagi Ki

दौलत की भूख ऐसी लगी की कमाने निकल गए! जब दौलत मिली तो हाथ से रिश्ते निकल गए! बच्चों के साथ रहने की फुरसत ना मिल सकी! फुरसत मिली तो बच्चे कमाने निकल गए! वाह रे जिंदगी…!