Tu Nahi To Kuch Nahi

Tu Nahi To Kuch Nahi

तेरे ख्यालो से धड़कन को छुपा के देखा है,
दिल और नज़र को बहुत रुला के देखा है,
तेरी कसम तू नहीं तो कुछ नहीं,
क्योंकि मैंने कुछ पल तुझे भुला के देखा है !!!