Uth Jaa Kambakhat

माँ अपने बेटे से: उठ जा कम्बखत,
देख सूरज कब का निकल आया है,
बेटा अपनी माँ से: तो क्या हुआ माँ!
वो सोता भी तो मुझसे पहले है…
☺☺☺

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.