Zindagi Rahi To Mulakaat Bhi Hogi

दिन है तो रात भी होगी,
बादल है तो बरसात भी होगी,
जुदाई से क्यों घबराते हो,
जिंदगी रही तो मुलाकात भी होगी…

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.